Re: प्यास बुझती ही नही

Share

[size=150:gihe12yp][color=#8000BF:gihe12yp] प्यास बुझती ही नही-9

राज: हाई..इस साड़ी मे तुम कमाल लग रही…हो…..

रश्मि: ह्म्‍म्म्म थॅंक्स…ये साड़ी मेरी शादी की साड़ी है…….सुहागरात मे यही साड़ी पहनी थी.

राज ने उसे पिछे से पकड़ लिया और उसके बूब्स को अपने हाथो मे लेकर भीचने लगा….

रश्मि: अरे…ये क्या कर रहे हो…हटो….अभी तो बहुत समय है…..

राज ने उसे छोड़ दिया…और फिर उसे पूछा : ये मॅगज़ीन कौन पढ़ता है.

रश्मि: ये मॅगज़ीन…आपके भाई पढ़ते है……उसके बेस्ट फ्रेंड मिस रंभा ने दी है.

राज: तो क्या लड़किया भी इसतरह की मॅगज़ीन पढ़ती है.

रश्मि: क्यो??? हम लड़कियों का दिल नही होता क्या? हमे भी तो सेक्स की भूक होती है?

राज: लगता है कि राजेश को रंभा कुच्छ ज़्यादा ही पसंद है

रश्मि: ह्म्‍म्म्ममममम जनाब को मेरी ज़रूरत कहाँ ?

राज: अरे नही यार…ऐसा मत कहो..वो तुम्हे बहुत प्यार करता है….

रश्मि: सिर्फ़ दिखता है

राज: और मे……..?

रश्मि: आप तो…………………. और रुक गयी…

राज: मे क्या?????

रश्मि: आप जम कर चुदाई करते है……………….मे कायल हो गयी आपके प्यार की….आपके लंड की.

राज: ओह….ऐसा क्या????????………………………. थॅंक्स

रश्मि: मे तो आपकी दीवानी हू…….

राज: मेरी या मेरे लंड की?

रश्मि: दोनो की???

राज: सच?

रश्मि: जी…

और वो राज के काफ़ी करीब आ गयी…..राज ने उसे बाँहो मे ले लिया और उसके लिप्स, होंठ, गाल, चेहरे को चूमने, चाटने लगा……रश्मि पागल सी हो गयी….उसने भी राज के गले मे बाँहे डाल दी और उसके कुर्ते के बटन को खोलने लगी……………राज समझ गया कि लोहा गरम है….हथोडा मारना होगा……………………..उसने अब रश्मि को आज़ाद किया और उसकी साड़ी को निकालने लगा….साड़ी एक ही झटके मे उसके शरीर से अलग हो गयी……………………….रेड ब्लाउस और पेटिकोट मे अप्सरा लग रही थी…………………………….चुचियो को दबाते दबाते हुए उसके पेटिकोट के नाडे को खींच दिया….पेटिकोट नीचे ज़मीन पर गिर गयी………………….रश्मि शर्मा गयी…….और अपनी जाँघो को राज से च्छुपाने लगी………………..राज ने उसे अपनी बाँहो मे लिया और चूमते हुए उसका ब्लाउस और ब्रा को भी उसके शरीर से अलग कर दिया…………………………………………………………………………..अब सिर्फ़ पॅंटी बची थी.

राज ने उसे नही निकाला और अपना पायज़ामा निकाल दिया….वो भी सिर्फ़ ब्रीफ मे आ गया…..जॅन्हा कि ने लंड महाराज काफ़ी उत्पात मचा रहा था. वैसे राज उसे भी निकाल देना चाहता था…पर वो रुक गया और रश्मि की आँखो मे झाँकते हुए कहा……मेडम आगे?

रश्मि: पहले ये दूध पियो?

राज: अरे….अभी तो पिया था

रश्मि: तो क्या हुआ फिर पी लो……………………

राज: नही…मे ये दूध नही ये दूध पियुंगा….और उसके एक निपल को चुटकी मे लेकर मसल दिया…

रश्मि: उईईईई….आहह कर उठी…………………………………………..अब रश्मि भी पूरे मूड मे थी…उसकी पॅंटी गीली हो चुकी थी…जो की दिख रहा था……………………….

आगे राज ने उसकी दोनो चुचियो को एक एक कर के प्यार किया और चूमने , चूसने लगा….रश्मि तो पागल हो गयी……………अब रश्मि का हाथ राज के लंड पर आ गया………..और उसने ब्रीफ के उप्पर से ही लंड को मसल दिया……………राज ने जब दिखा कि रश्मि लंड केलिए पागल हो गयी है तो उसने इशारे मे कहा कि खोल दो…ब्रीफ को………………इशारा पाते ही रश्मि ने ब्रीफ को निकाल दिया…और उसके लंड को अपने हाथो मे लेकर दबाने लगी…………………………………राज का लंड काफ़ी एरॅक्ट गया…….दोनो अभी भी खड़े खड़े ही एक दूसरे के कपड़े निकाल रहे थे……सामने मिरर मे दोनो एक दूसरे को नंग धरन्ग देख रहे थे………………………………………रश्मि ने झुक कर लंड के सूपदे पर एक हल्की सी किस दी…..

राज सिहर गया………………अब राजसे बर्दास्त नही हो रहा था….उसने भी रश्मि की पॅंटी उसके शरीर से निकाल दी…………………….रश्मि ने उसे सहयोग दिया…………………………..दोनो मदरजात नंग हो गये………………मिरर मे देख कर एग्ज़ाइट हो गेये……पीछी से रश्मि को पकड़ कर कहा:

राज: तुम तो कमाल की लगती हो

रश्मि: ह्म्‍म्म्मम………आअहह…………..

राज: तुम्हारा एक एक अंग प्यारा है और चूत के लिप को होंठ से पकड़कर खींचने लगा

रश्मि: क्या करते हो..दर्द हो रहा है.

राज: इस दर्द मे ही तो मज़ा है

और फिर रश्मि को टर्न कर दिया……अब रश्मि की मोटी गांद राज के आँखो के सामने आ गयी………………..पहले गांद को चूम लिया ….फिर गांद के दोनो बोल्स को पकड़ कर दबाया….फिर दोनो फांको को अलग किया……पर आस होल नही दिख रहा था….राज ने कहा….डार्लिंग थोड़ा आगे की ओर झुको….

रश्मि: क्यो????

राजे: अरे भाई झुको तो सही…..मुझे कुच्छ देखना है

रश्मि: क्या?

राज: इंडिया गेट

रश्मि: इंडिया गेट????हाआआआआआआआअ

राज: हमम्म्म बस दर्शन करने दो

रश्मि थोड़ा आगे की ओर झुक गयी और मिरर का सहारा ले लिया………………झुकने से आस-होल दिख गया……गुलाबी….छूटा सा छेद……चवन्नि आकर का आस-होल…बहुत प्यारा लग रहा था……राज उसे चूमना चाहता था…पर उसकी जीव वन्हा तक नही जा रही थी….उसने पुनः अनुरोध किया….डार्लिंग थोड़ा और झुको……………………………….

रश्मि: अब और नही झुक सकती…जो भी करना है…इतने मे ही करो…………..

राज: मायूस हो गया…और फिर माँस के दोनो लूथरो को चोडा कर आस-होल को देखा और जीभ को लेगया……उसे हल्का नमकीन लगा….पर खुसबू बहुत प्यारी लगी…..रश्मि कराह उठी………………………………………………….

रश्मि: अब बस करो…………मे झाड़ जाऊंगी.

राज;तो झाड़ जाओ…….

रश्मि: अब बर्दास्त नही होता…बेड पर चलो और चोद दो

राज; अभी नही मेरी जान…अभी तो तुम्हारी मलाई भी खानी है.

रश्मि: मलाई???

राज: हन…..

रश्मि: मलाई शब्द का अर्थ समझते हुए………..च्ीईीईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईई

आप कितने गिरे हुए हो…क्या वो भी खाई जाती है>>>>च्चिईिइ

राज: मुझे सब अच्छा लगता है…और फिर चुदाई मे सब ठीक लगता है…

रश्मि: पर मुझे अच्छा नही लगता….अगर ज़बरदस्ती करोगे तो मे यान्हा से चली जाऊंगी…………………..सब कुच्छ करो…पर ये मलाई की बात नही….

राज: पर तुम्हे क्या अपपत्ति है

रश्मि: मेने कह दिया ना…. नही तो नही…..बस

राज: ओके….ऐज यू विश और उसे फिर टर्न कर दिया और उसकी चूत को चाटनेलागा

रश्मि: अब बर्दास्त नही होता..प्लीज़ चलो बेड पर….प्लीस….मेरे राजा

राज : चलते है??? पहले तुम्हारे इस रूप को तो देखने दो…..अगर कॅमरा होता तो एक स्नॅप खींच लेता……

रश्मि: अगर खींचना हो तो आँखो से खिँचो………………………..मे कुच्छ नही बोलूँगी……………

राज समझ गया कि ये दुल्हन आसानी से नही मानने वाली है.

________________________________________

राज ने गांद की गहराई मे अपने विशाल लंड का दबाब डाला….रश्मि चिहुनक गयी उसे लगा कि लंड उसकी गांद मे जा रहा है पर ऐसा नही हुआ….उसके झुके रहने और चूत चिकनी रहने की वजह से चूत मे 3 इंच तक चला गया….रश्मि के मुँह से आआहह निकल गयी…………………….

राज दबाब बढ़ाता गया और अंततः पूरा अंदर घुसा दिया…..रश्मि की आँखो से आँसू आ रहे थे…जो कि राज भी मिरर मे देख रहा था….वो अब इतना झुक गयी थी जिस-से उसकी चूत और लंड मिरर मे नही दिखाई दे रहे थे…..अचानक राज ने उसकी एक टांग को उठा दिया और अपनी कमर मे डाल दिया…..रश्मि ने अपनी टांग को कैंची की तरह राज की कमर मे लपेट लिया….ऐसा करने से चूत का मुँह पूरा खुल गया …और राज ने थोडा पीछे करनेके बाद ज़ोर लगाके पूरा पेल दिया……………………………..उईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईइइममाआअ…………माआई…मर गयी…………की आवाज़ आनेलागी……………….राज ने अब धक्के लगाना सुरू कर दिया…..जब रश्मि पसीने पसीने हो गयी तो राज के कानो मे बोली…..अब तो चलो बेड पर…मे थक चुकी हू….और मेरा पैर भी दुख रहा है……….

हां हां अभी लो………………………………………………….अब राज ने उसके दूसरे पैर को भी उपर खींच लिया ………रश्मि ने वो पैर भी कैंची की तरह बाँध लिया और अब हालात ये होगये कि रश्मि और राज दोनो 8 स्टाइल मे हो गयी…लंड पूरा चूत मे घुसा हुआ था….और रश्मि मुस्कुरई……आप तो उस्ताद है चुदाई के….कहाँ से सीखा ये आसन………………………………..

बस मत पुछ्हो मेरी जान…..सीखना ही पड़ता है जब तुम जैसी हसीना को खुस करना हो तो.

अब रश्मि बेड पर पीठ के बल सो गयी..और राज उसके उपर सिमिलर मे सो गया…उसका लंड उसकी चूत मे 80% घुसा हुआ था……वो अपनी कमर को आहिस्ते आहिस्ते चला रहा था और फिर उससे बाते भी कर रहा था……

राज:कल राजेश आ जाएगा तो हमलोग कैसे चुदाई करेंगे?

रश्मि: जब की तब देखी जाएगी….अभी तो चोदो ज़ोर ज़ोर से…आहह

राज: वो तो मैं चोद ही रहा हू….मे फर्दर की बात कर रहा हू.

रश्मि: आप चिंता क्यो करते है…मे हूँ ना…..मेरे रहते आपको चिंता की ज़रूरत नही और वैसे भी राजेश भी यही चाहता था कि मे आप से चुदु?

राज: क्या मतलब?

रश्मि: अपनी जीव निकालते हुए? ओह…….ये मेने क्या कह दिया….

राज: अब तो बता ही दो इस शैतानी दिमाग़ मे और क्या है मेरे लिए

रश्मि हस्ते हुए: एक बार जब मेने उसकी जेब मे रंभा का फोटो देखा और मे उसपे बिगड़ी तो पता है उसने क्या कहा?

राज: क्या कहा बताओ?

रश्मि : पहले तो वो कबूला कि रंभा से उसका 1 साल से अफेर है..और रोज उसे ऑफीस टाइम मे चोद्ता है.

राज: ह्म्‍म्म्ममम

रश्मि: और फिर एक दिन जब मेने उसे चोद्ते हुए पकड़ लिया तो वो घबरा कर कहा कि……………तुम भी किसी के साथ चुद्वा सकती हो…..

रश्मि: मेने कहा ….मे ऐसी लड़की नही हू…..तुम बेशक गंगा मेली करो पर मे नही करूँगी. तो उसने कहा कि चाहे जो भी हो तुम भी किसी के साथ सेक्स कर सकती हो……मेरी तरफ से पूरी इज़ाज़त है …..वो तो यान्हा तक कह दिया कि राज भैया से चुद्वा लो….

राज: क्या??????????????????????????????????????

रश्मि: हाअ……………..मे बताना चाह रही थी….पर बता ना सकी

राज: तो मे ख़ाँम-ख़ाँ डर रहा था…..अब ये लो और उसने चुदाई हार्ड कर दी………

रश्मि: अब तुम बाते मत करो और चोदो जी भर के……मे आपके लंड से बहुत प्यार करती हू…………………………………………………..

बहुत खूबसूरत लंड है आपका.

राज: ओह….थॅंक्स……………………………………………………..[/color:gihe12yp][/size:gihe12yp]

Share
Posted in Uncategorized
Article By :

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *