Re: तीन घोड़िया एक घुड़सवार

Share

[size=150:2qvzpbu5][color=#8000BF:2qvzpbu5] raj sharma stories

तीन घोड़िया एक घुड़सवार–12

गतान्क से आगे……………….

मा ज़ोर ज़ोर से सिसकारिया मारने लगती है और अजय अपनी मा की चूत मेअपना मोटा लंड पेल पेल कर ठोकने लगता है, गीता भी सी सी आह आह कर के उपने चूतड़ हिला हिला कर अपने बेटे के लंड पर मारने लग जाती है शाबाश बेटे ऐसे ही और ज़ोर से आह और ज़ोर से खूब चोद और ज़ोर से चोद बेटे अपनी मा को फाड़ दे अपनी मम्मी की चूत और ज़ोर से मार आह आह पूरे कमरे मे ठप ठप की आवाज़ गूंजने लगती तभी अजय एक कस कर धक्का अपनी मा की चूत पर मारता है जो कि सीधा उसकी मम्मी की बच्चेदानी से टकराता है और दोनो झाड़ जाते है, गीता तड़पने लग जाती है और उठ कर अजय का लंड अपने मूह मे भर कर पागलो की तरह चूसने लगती है अजय सातवे आसमान पर पहुच जाता है और उसकी मा एक एक बूँद रस अपने बेटे के लंड से चूसने लगती है और अजय के लंड को छ्चोड़ने का नाम नही लेती है अजय भी अपनी मा के मोटे मोटे पपितो को अपने हाथो मे भर भर कर दबाने लगता है और अपने एक हाथ को गीता की गंद के पास लेजा कर उसकी गंद के छेद मे एक उंगली डाल कर तब तक दबाता है जब तक कि उसकी पूरी उंगली अपनी मम्मी की गंद मे समा नही जाती है उसकी इस हरकत से गीता उसके लंड को पूरा अपने मूह मे जड़ तक भर लेती है और फिर अजय के लंड और उसके बाल्स को चाटने लगती

अजय मस्त होकर अपनी उंगली निकालता है और फिर तेल मे अपनी दो उंगलिया डुबो कर अपनी मम्मी की गंद मे पूरी भर देता है, थोड़ी देर बाद अजय अपनी मम्मी को फिर से घोड़ी बना कर अपने लंड पर ढेर सारा तेल लगा कर अपनी मा की मोटी गंद मे अपना लंड लगा कर एक तगड़ा झटका मारता है और गीता अकड़ जाती है और उसके मूह से एक घुटि हुई चीख निकल जाती है और अजय का आधे से ज़्यादा लंड अपनी मा की गंद मे फँसा होता है, गीता नही बेटा बहुत दर्द कर रहा है अपना लंड बाहर निकाल ले आह आह अजय कहता है ठीक है मा निकालता हू आप थोड़ा अपनी गंद को ढीली करो गीता अपनी गंद को ढीली करती है और अजय कस कर एक धक्का और मार देता है जिससे उसका पूरा लंड जड़ तक उसकी मा की गंद मे घुस जाता है और गीता ओह्ह्ह्ह ओह मर गई रे ओमा आह आह अजय अपना लंड धीरे धीरे आगे पीछे करने लगता है गीता आह आह मत कर बेटा….आ आ आ फिर अजय अपने लंड को एक दम झटके से बाहर तक खिचता है और एक और तगड़ा झटका अपनी मा की मोटी गंद मे मार देता है और अबकी बार उसका लंड एक ही झटके मे उसकी मम्मी की गंद के जड़ तक चला जाता है और गीता उस झटके के साथ ही बेड पर पेट के बल गिरती है और गंद मे लॅंड फँसा होने से अजय भी उसकी गंद के उपर गिर जाता है जिससे अजय का लंड पूरा अपनी मम्मी की गंद मे बहुत गहराई तक धस जाता है और गीता की आवाज़ बंद हो जाती है, कुछ देर अजय अपना मोटा लंड अपनी मम्मी की गंद मे फसाए अपनी मम्मी के उपर पड़ा रहता है

फिर अपनी मम्मी की छाती के नीचे हाथ लेजा कर उसके मोटे थनो को पकड़ कर दबाने लगता है और धीरे धीरे लेकिन गहरे धक्के अपनी मम्मी की गंद मे मारते हुए अपनी मम्मी की मोटी गंद को चोदने लगता है, और साइड से अपनी मम्मी के गोरे गालो को चूमने लगता है, उसकी मम्मी धीरे धीरे लेकिन मज़े वाली आवाज़ निकालती पड़ी रहती है, अजय अपनी मा की गंद चोद्ते चोद्ते मम्मी, गीता हू, कैसा लग रहा है आपको, गीता अच्छा लग रहा है, अजय अब धीरे धीरे अपनी स्पीड बढ़ाने लगता है और गीता अपने पैरो को थोड़ा और फैला देती है, फिर अजय के धक्को मे जैसे जैसे तेज़ी आती जाती है गीता भी मस्ती मे सीसियती जाती है, करीब आधे घंटे तक अजय अपनी मा की मोटी गंद मार मार कर लाल कर देता है उसका लंड अपनी मम्मी की मोटी गंद मे सतसट सतसट आने जाने लगता है, फिर वह अपना हाथ अपनी मम्मी की चूत के नीचे लेजा कर चूत मे दो उंगली डाल कर उसे अपने लंड की ओर उठाते हुए कस कस कर अपनी मम्मी की गंद मारने लगता है गीता का मज़ा दोगुना हो जाता है और वह चिल्लाने लगती है चोद और ज़ोर से चोद आह आह आह और ज़ोर से चोद बेटा अपनी मम्मी की गंद हाँ ऐसे आह आह्ं फाड़ डाल फाड़ दे बेटा अपनी मम्मी की गंद खूब कस कस कर चोद और चोद ज़ोर से चोद मेरे लाल आह आह सी सी आह तभी अजय एक करारा झटका मारता है और गीता आह करके बेड से चिपक जाती है और अजय अपनी मम्मी की गंद की गहराई मे अपना लंड दबा दबा कर सारा रस छ्चोड़ देता है.[/color:2qvzpbu5][/size:2qvzpbu5]

Share
Posted in Uncategorized
Article By :

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *