Re: कामुक-कहानियाँ – मेरी चाची नंबर वन

Share

[size=150:358hdxol][color=#8000FF:358hdxol] मेरी चाची नंबर वन—3

गतान्क से आगे,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

एक लम्हे को तो मैं डर गया और मुझे लगा कि चाची जाग गयी है लेकिन नही चाची अभी तक सो रही थी अब चाची के बूब्स नाइटी के अंदर मेरे मूँह के बिल्कुल सामने थे मेरे और चाची के बूब्स का फासला तकरीबन 3 या 4 इंच का था फिर मैं ने अपन हाथ धीरे से चाची के बूब्स पर रख कर बूब्स को थोड़ा दबाया हाई क्या नरम बूब्स थे इतना मज़ा फिर मैने चाची के बूब्स को दबाना जारी रखा मैं अपने हाथो से चाची के बूब्स दबा रहा था और अपने आँखो से चाची को देख रहा था फिर मैने चाची के बूब्स को नाइटी से बाहर निकाला.

चाची ने उस वक़्त अपनी ब्रा नही पहनी थी और फिर मैने चाची की निपल्स को अपने मूँह मे लेकर चूसने लगा चूस्ते चूस्ते मुझे इतना मज़ा आया कि मैने अपनी चाची की निपल्स को हल्का सा काट लिया तो चाची की मूँह से सिसकारी निकली तो मैं डर गया और जल्दी से पीछे हट गया और उसी वक़्त चाची उठ गयी ओरमुझे देख कर कहा क्या बात है तुम जाग रहे हो मैने कहा ऐसे ही बस नींद नही आराही तो चाची ने कहा कोई बात नही मेरे साथ सो जाओ नींद आजाए गी मुझे और क्या चाहिए था मैं फटा फॅट चाची के साथ लेट गया फिर अचानक चाची की नज़र अपने बूब्स पर गयी और मुझे कहा ये देखो ना ये कैसे बाहर निकल आए ज़रा इन्हे अंदर करदो.

फिर मैने चाची के बूब्स को पकड़ कर उनको चाची की नाइटी के अंदर डाल दिया फिर चाची ने मुझे कहा कि मेरी चूत मे कुछ पानी सा लग रहा है ज़रा देखो तो सही क्या है मुझे ये सुन कर बोहोत मज़ा आया कि चाची अब मुझ से अपनी बूर का चेक अप करवा रही है फिर मैं हालाँकि मुझे पता था कि चाची की बूर पर मेरा कम लगा हुआ है लेकिन मैं ज़ाहिर नही करना चाहता था मैं चाची की बूर को देखने की कोशिश करने लगा लेकिन कमरे मे अंधेरा था सिर्फ़ थोड़ी सी हल्की हल्की रोशनी थी इस लिए मैं चाची की बूर को सही तरह से नही देख सका.

फिर मैने चाची से कहा कि चाची अंधेरे की वजह से सही नज़र नही आरहा तो चाची ने कहा लाइट ऑन कर की देख लो फिर मैने लाइट ऑन की और चाची की बूर को दोबारा देखने लगा क्या चूत थी चाची की फिर मैने चाची से कहा कि ये आप की चूत का पानी है तो चाची ने कहा कि अच्छा मैं इसे साफ कर के आती हूँ फिर चाची वॉशरूम मे चली गयी अपनी चूत को साफ करने के लिए चूत को साफ कर के जब चाची बाहर निकली तो उन का पाँव फिसल गया और वो पीठ के बल ज़मीन पर गिर गयी ये देख कर मैं जल्दी से चाची के पास गया और उन को उठा के चाची को बेड पर लिटाया तो चाची ने मुझ से कहा कि बोहोट दर्द हो रहा है पीठ मैं क्या तुम थोड़ी सी तेल की मालिश करो गे मैने कहा हां और ड्रेसिंग टेबल से तेल की बॉटल उठा के चाची के पास गया.

[/color:358hdxol][/size:358hdxol]

Share
Posted in Uncategorized
Article By :

Leave a Reply