चाचा बड़े जालिम हो तुम compleet

Share

[color=#BF0000:1kpwaa7m][size=150:1kpwaa7m]चाचा बड़े जालिम हो तुम–1
दोस्तो मैं यानी आपका दोस्त राज शर्मा आपके लिए एक और नई कहानी लेकर आया हूँ दोस्तो वैसे तो आपको मेरी सभी कहानियाँ आप सब को पसंद आती है लेकिन मेरा दावा है ये कहानी आपको बहुत पसंद आएगी . दोस्तो ये कहानी एक ऐसी औरत की है जो अपना वंश चलाने के लिए अपनी बहू को एक सब्जी वाले से ही चुदवा देती है . तो दोस्तो कहानी कुछ इस तरह से है…………रज़िया शाह 28 साल की एक शादी शुदा जवान महिला थी उसकी शादी रहमान के साथ 6 साल पहले हुई थी . लेकिन अभी तक उनके कोई बच्चा नही हुआ था . डॉक्टर से जाँच कराने पर रज़िया की रिपोर्ट तो नॉर्मल निकली लेकिन रहमान की रिपोर्ट मे उसके शुक्राणु बहुत कम थे . रज़िया की सास रेहाना बी 60 साल की थी उनके पति 15 साल पहले गुजर चुके थे . जब उनके बेटे की शादी हुई तो रेहाना बी बहुत खुश थी लेकिन शादी के कुछ साल बाद भी जब उनकी बहू के कोई बच्चा पैदा नही हुआ तो उनको चिंता होने लगी . रेहाना बी की चिंता उस दिन और बढ़ गई जब एक दिन उन्होने अपने बेटे की रिपोर्ट पढ़ ली . रेहाना पूरी तरह से नर्वस हो गई कि उनका बेटा कभी बाप नही बन पाएगा . रेहाना बी ने इस मामले को अपने हाथ मे ले लिया उन्होने सारी रिपोर्ट रज़िया को दिखाई . वो किसी भी हाल मे अपने पोते का मुँह देखना चाहती थी चाहे उसके लिए कुछ भी क्यो ना करना पड़े

हरी सिंग एक सब्जी बेचने वाला था . वह पिछले 8-10 साल से रेहाना बी के बंगले के आस पास ही सब्जी बेचता था . हरी सींग की उम्र 40 साल थी वह रेहाना बी को बहन जी बोलता था और रेहाना बी उसे हरी भाई बोलती थी मुहल्ले बाकी सब लोग हरी को हरी चाचा कहते थे हरी देखने मे हॅटा केटा और सुंदर था वो अपने काम के समय शर्ट और धोती पहनता था . दोपहर को हरी रेहाना बी के बंगले के वरांडे मे सीडियो के पास बैठकर ही खाना खाता था रेहाना बी भी उसे अक्सर ठंडा पानी दे दिया करती थी . रेहाना बी ने हरी सिंग से बात करने की शोची लेकिन सवाल ये भी था की अगर हरी मान भी जाता है तो क्या रज़िया एक सब्जी वाले के साथ सोने को तैयार हो पाएगी . फिर रेहाना बी ने सोचा की पहले हरी से बात कर ले फिर वो रज़िया से बात करेंगी

अगले दिन रेहाना बी ने रज़िया को बताया की वो किसी काम से बाहर जा रही है आधे घंटे मे वापस आ जाएँगी दोपहर का समय था काफ़ी लोग रोड पर आ जा रहे थे . रेहाना बी ने सोचा इस समय वो हरी से फ्री होकर बात कर सकेंगी . रज़िया पिशाब के लिए फर्स्ट फ्लोर पर बाथरूम गई . उसने देखा उसकी सास हरी सिंग से बात कर रही है जब 15 मिनट बाद रज़िया वापस आई तो उसने देखा रेहाना बी अभी तक हरी सिंग से बात कर रही थी . ये ठीक नही था वो जानती थी कि जब भी रेहाना बी सब्जी खरीदने हरी सिंग के पास आती तो अक्सर बात करती थी . रज़िया बालकोनी मे आई और वहाँ से दोनो को देखने लगी हरी का मुँह उसकी तरफ था और रेहाना बी की पीठ उसकी तरफ थी

रेहाना बी हरी की छोटी सी दुकान पर गई . हरी ने उनको नमस्ते किया . रेहाना बी ने रोड के इधर उधर देखा और कहा , "हरी भाई मुझे तुमसे एक काम है. काम बड़ा नाज़ुक है, किसी और को मालूम हुआ तो मेरी बड़ी बदनामी होगी. क्या मैं तुमपे भरोसा कर सकती हूँ?"

हरी ने अपनी आँखो ही आँखो मे भरोसा दिलाया और कहा, "कैसी बात करती हो बेहन?आप जो कुछ बोलेंगी वो जान जाने तक किसी को नही पता चलेगा , यहा तक कि आपके बेटे या बहू को भी नही ."

रेहाना बी थोड़ी नर्वस हुई लेकिन फिर उन्होने मन ही मन कुछ सोचा , "हरी देख काम कुछ ग़लत है,कोई भी सास या मा ये काम करने को किसी गैर मर्द को नही बोलेगी. हरी तू जानता है की रहमान की शादी को 6 साल हो गये और अभी उससे औलाद नही हुई. इसमे रज़िया का कोई दोष नही, पूरा दोष रहमान मे है. हरी मुझे मालूम है तूने मेरी बचपन की दोस्त शांति बेन की बहू की मदद की थी,मैं चाहती हूँ वैसे ही मदद तू मेरी बहू की कर और मुझे एक प्यारा सा नाती दे दे उन्होने एक साँस मे ही सारी बात कह दी और हरी के चेहरे की तरफ देखने लगी . [/size:1kpwaa7m][/color:1kpwaa7m]

Share
Posted in Uncategorized
Article By :

Leave a Reply