sex jokes and poems.. ultimate fun

Share

बोरिंग टूर बन गया सुहाना

हैल्लो फ्रेंड्स हमारा नाम संदीप है और में रतलाम का रहने वाला हूँ।

दोस्तों आज में अपने पहले सफल प्यार और पहली बार चुदाई की कहानी लिख रहा हूँ.

ये तब की बात है जब  में एक कॉलेज में पढ़ता था और हमारे टीचर का थोड़ी ही दूरी पर एक कोचिंग सेण्टर था.

मैं और टीचर आपस में काफी फ्रेंडली थे.

एक बार हमारे कोचिंग के टीचर ने हम सब स्टूडेंट्स को पिकनिक पे पूना घूमने का ऑफर दिया .

फिर हमारा एक अच्छे होटल में रुकने का इंतज़ाम किया था और में वहाँ पर रुका गया।

हमें बहुत अच्छा लगा लेकिन अफ़सोस की बात तो यह थी कि वहाँ पर हमारे साथ कोई लड़की नहीं थी।

फिर हमने टीचर को बोला कि कहाँ बोरिंग जगह ले आए।

फिर टीचर बोले कि सिर्फ दो दिन बाद कोचिंग की कुछ लड़कियाँ भी पेपर देने आ जाएँगी

और इस पिकनिक को भी ज्वाइन कर लेंगी ।

फिर में बहुत खुश हुआ और पूना का मौसम बहुत अच्छा था।

हम रोज शाम को छत पर बैठ कर बियर पीते और मजे करते और फिर किसी तरह दो दिन निकल गए

और सभी लड़कियाँ भी आ गई। फिर तो हमारा एक बहुत अच्छा माहोल भी बन गया।

सारा दिन मजे मस्ती करना और घूमना फिरना. बस यही हमारा काम था.

 

मन से मिला मन

उन लड़कियों में से एक लड़की का नाम सुहाना था. वह भी बड़ी मस्तीखोर थी. सारे स्टूडेंट्स के साथ हमारे टीचर भी उस पर लाइन मारते थे. लेकिन टीचर की उम्र ज्यादा थी इसलिए सुहाना उन्हें उस नजर से नहीं देख सकती थी. लेकिन सुहाना की  मुझसे बहुत अच्छी बनती थी और हम अक्सर देर रात तक एक साथ बैठकर बातें करते थे और इसी तरह हमारा पूना का टूर भी खत्म हो गया और हम लोग वापस आ गये.

इसी दौरान रास्ते में हमने और सुहाना ने एक दूसरे का नंबर भी ले लिया और फिर घर आकर हम  फोन पर बातें करते थे और हमारा अफेयर शुरू हो गया। एक दो बार हमने उसके साथ फिजिकल होने की भी कोशिश की. मन तो उसका भी मचलता था लेकिन इसे वह शायद कुछ अलग यादगार तरीके से शुरू करना चाहती थी.

हम दोनों ने अपने फिजिकल रिलेशन की शुरुवात यानि पहली बार चुदाई की शुरुवात वहीँ से करने का मन बनाया जहाँ पहली बार हमारे मन मिले थे.. तो हम दोनों पहली बार अपना तन एक करने के लिए उसी पुरानी जगह  निकल पड़े रतलाम से पूना के लिए।

 

फिर आयी तन मिलन की रात

 

वहां पहुँच कर हमने एक होटल में एक महंगा वाला कमरा लिया. वेटर को कुछ पैसे देकर हमने उसे कमरे में रोमांटिक सजावट करने को बोल दिया. और शहर को फिर से घूमने निकल पड़े. हम हर उस जगह गए जहाँ पिछले टूर पे जा चुके थे और वहां जाकर पिछली यादों को तजा किया. शाम को जब हम लौटकर आये तो देखा की हमारा कमरा और बिस्तर  बिलकुल सुहागरात की सेज बना हुआ था. मजा आ गया ये देखकर और हमने वेटर को कुछ और पैसे दिए.

बिस्तर पर आते ही हमारी किस शुरू हो गई पता ही नहीं चला कि हमे कब जोश आ गया और हमने उसे पटक कर लेटा दिया और उसके ऊपर आ गया और हमने अपना हाथ उसकी टी-शर्ट में डाला और उसके बूब्स बहुत अच्छे थे। थोड़ी देर में उसकी टी-शर्ट भी उतार दी और में ब्रा के ऊपर से ही उसकी चूचियों को चूस रहा था। हमने जब उसकी ब्रा उतारी तो देखता ही रह गया उसकी चूची एकदम गुलाबी कलर की थी. हमने पहली बार किसी लड़की की चूची का निप्पल  देखा था और फिर ये गुलाबी निप्पल देखकर स्वयं पर नियंत्रण करना मुश्किल था.

 

उस पर भी चढ़ा चुदाई का खुमार

जब मैं सुहाना की जीन्स उतारने लगा  तो वह मना करने लगी

हमने उसकी चूचियां दबाते हुए उसके होठों को अपने होठों की गिरफ्त में ले लिया ।

कुछ देर यूँ ही चूसने के बाद सुहाना ने खुद अपनी जीन्स उतार दी.

सुहाना की गोरो गोरी जांघें देखकर हमारा जोश और भी बढ़  गया और हमने एक हाथ उसकी गुलाबी पैंटी में घुसा दिया।

उसकी मुंडा चूत बहुत मुलायम थी।

फिर उसकी पेंटी उतारी तो उसकी मुंडा चूत के दर्शन भी हुए..

वाह क्या चूत थी उसकी और चूत बहुत टाईट थी.

हमने धीरे से उसकी चूत पर एक किस किया

वह मचल उठी और बोलने लगी कि जान फिर और बर्दाश्त नहीं होता

प्लीज़ अपना लंड डाल दो और वह अपना हाथ हमारे पैंट के अंदर डालने लग गई।

फिर हमने अपनी बनियान उतारी और पैंट भी और सिर्फ़ अंडरवियर में आ गया फिर उसने धीरे से हमारा अंडरवियर भी उतारा और फिर वह चोंक गई..

क्योंकि हमारा लंड थोड़ा बड़ा है और मोटा भी.. वह बोली कि जान तुम्हारा बहुत बड़ा है मुझसे नहीं होगा। फिर हमने सोचा कि यह तो खड़े लंड पर धोखे वाली बात हो गई। फिर हमने उसे थोड़ी देर उसके पूरे शरीर को किस किया और वह अपने आपे से बाहर हो गई.. क्योंकि वह बहुत गरम हो चुकी थी और फिर वह मान गई।

 

बड़ा लंड और उसकी तंग चूत

फिर हमने उसे सीधा लेटाया और एक पैर उठाया और उसकी तरफ मोड़ दिया।

फिर में उसके ऊपर आ गया.. फिर हमने अपनी पोज़िशन सेट की और बड़ा लंड को उसकी चूत से सटाया उसकी चूत बहुत गीली हो चुकी थी। फिर हमने जैसे ही थोड़ा सा दबाव डाला लंड फिसल गया और एकदम से चूत के नीचे चला गया।

हमने फिर से पोज़िशन सेट की.. उसकी चूत सही में बहुत टाईट थी..

लेकिन इस बार थोड़ा ज़्यादा प्रेशर से बड़ा लंड को चूत में डाला तो हमारे बड़ा लंड का थोड़ा सा मुहं अंदर चला गया और वह छटपटाने लगी और कहने लगी कि..

प्लीज़ मान जाओ ना.. आज ये सब नहीं करते है.. प्लीज।

फिर में थोड़ी देर ऐसे ही पड़ा रहा और उसे अपनी इधर उधर की बातों में लगाने लगा।

फिर जब उसका दर्द कम हुआ तो एक और बड़ा लंड का झटका मारा।

हमारा लंड आधा ही गया था कि वह अधमरी सी हो गई

और बहुत ज़ोर से रोने और चिल्लाने लगी, उसकी चूत से खून भी आने लगा तो मैं  भी थोड़ा सा डर गया और लंड को बाहर निकाला। उसके बाद उसे थोड़ी देर लेटने दिया।

 

आख़िरकार चूत झड़ गयी

फिर में सिगरेट पीने के लिए रूम से बाहर चला गया।

थोड़ी देर में वह बहुत ठीक हो चुकी थी फिर में उसके पास आकर लेट गया..

वह अभी भी नंगी ही लेटी हुई थी।

फिर हमने जैसे ही उसके बूब्स दबाए हमें फिर से जोश आ गया तो हमने उसे दोबारा ट्राई करने के लिये लेटा ही लिया। इस बार हमने उसके बेग से एक क्रीम निकाली और अपने एक हाथ से उसकी चूत और

अपने लंड पर लगाकर लंड को चिकना कर लिया और फिर एक ज़ोर का धक्का लगाया और फिर लंड आधा ही गया था कि उसकी हालत फिर वैसी ही हो गई.. लेकिन इस बार में रुकने वाला नहीं था फिर हमने और ज़ोर लगाकर लगभग पूरा लंड चूत के अंदर डाल ही दिया। लेकिन उसकी जैसे जान ही निकल गई। फिर में ऐसे ही उसके ऊपर लेटा रहा और उसे किस करने लगा उसके बूब्स पर, उसके होंठो पर, वह पांच मिनट में कुछ ठीक हो गई..

फिर हमने धीरे धीरे अपना काम शुरू किया। थोड़ी ही देर में वह अकड़ कर झड़ गई और ढीली पड़ गई..

 

धुआंधार चुदाई लगातार

लेकिन हमारा तो मूड अभी बनना शुरू हुआ था।

फिर हमारे बड़ा लंड ने उसकी तंग चूत में तेज तेज धक्के देने शुरू किए तो वह फिर दर्द से चिल्लाने लगी।

थोड़ी देर में वह फिर से गरम हो गई और हमारा साथ देने लगी।

फिर में उसके जोश को देखकर और जोश में आ गया और जोर जोर से चोदने लगा।

फिर करीब 10 मिनट की चूत चुदाई के बाद वह फिर से झड़ गई।

में अभी भी झड़ने नहीं वाला था

तो फिर हमने उसे घोड़ी बनाया और उसके कुल्हे पकड़ कर चोदने लगा।

15 मिनट की चुदाई के बाद वह फिर झड़ गई और फिर हमारा भी होने वाला था

लेकिन वह ढेर हो गई और बोली कि मुझसे फिर और नहीं होगा।

फिर हमने अपना बड़ा लंड चूत से बाहर निकाला

उसने हमारा बड़ा लंड पकड़ कर अपने मुहं में ले लिया

और अपने मुहं में ही हमें ठंडा किया और उसने सारा वीर्य चाटकर साफ कर दिया।

फिर उसके चहरे से साफ नजर आ रहा था कि वह पूरी तरह संतुष्ट है

उसकी चूत में दर्द भी शायद कम हो गया था।

उस चुदाई के बाद हमने उसे वहाँ पर दो बार और चोदा और फिर हम थक कर सो गये ।

Share
Article By :

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *